Thursday, March 1, 2018

होली 2

चुंगी में एक सनकी बा
नांव त ओकर ईश
केतनौ बड़का भगवनवा आवै
ना. नवाइब शीष
ओकर ई जुर्रत देखा
उप्पर वाले के नकली कहेला
अपुआं के बतावै असली ईश
नाम है पूर ईश मिसिरा
होलिऔ के गावै इंकिलाबी मिसरा
कहेल ऊल-जलूल गजल
भुलाइ गयल चुंगी हरफ-ए सदाकत
ओकरे जिम्मे बा लिखै के बगावत
चलेल नतमस्तक समाज में सीना तानि के
भरेल एकर बड़ी कीमत
सिर उठाइ क चलै क
छोटकी सजा जानि के

No comments:

Post a Comment