Thursday, November 6, 2014

हम तो हैं जन्मजात अावारा

हम तो  हैं जन्मजात अावारा
नाकारा कहते हमें मशीहा अनुशासन के
कल पुर्जे प्रशासन के
होते नहीं जब तर्क सरमाये के दलालों के पास
अावारगी को कह देते पागलपन का बकवास
(ईमिः06.11.2014)

2 comments:

  1. बाद में हो जाने से अच्छा है पैदायशी हों ।

    ReplyDelete