Tuesday, November 18, 2014

अासमां से परे नया अनंत

कुछ खास खयाल हैं लगता है इसके मन में
है  यह लड़की  जरूर किसी उधेड़-बुन मे
अांखें ढूंढ़ रहीं अासमां से परे नया अनंत
सपनों का जहां न अादि हो न अंत
लगती है हिरावल दस्ते की हरकारा
तज़वीज में है करने को रंग परचम का गहरा. 
(ईमिः19.11.2014)

2 comments:

  1. क्या बात! बहुत सुन्दर प्रस्तुति

    ReplyDelete
    Replies
    1. शुक्रिया, गाफिल भाई

      Delete