Wednesday, May 16, 2018

फुटनोट 175 (इंकलाब)

कोर्टकचहरी-जेल ... हर जगह बुलडोजर चलवा देना चाहिए। सही कह रहे हो। लेकिन उसके लिए इंकिलाब चाहिए और सरकारी मशीनरी को ध्वस्त कर वैकल्पिक संस्थानों के वैकल्पिक ब्लूप्रिंट। अपनी मुक्ति का संघर्ष जनता (कामगर) खुद लड़ेगी, लेकिन वर्गचेतना के आधार पर संगठित होकर। यानि सामाजिक चेतना का जनवादीकरण (जो तुम अपने तरीके से कर रहे हो) आज की सबसे बड़ी जरूरत है तथा ब्राह्मणवाद (फिलहाल संघी बैनर तले) और नवब्राह्मणवाद सबसे बड़े स्पीडब्रेकर्स हैं।

No comments:

Post a Comment