Thursday, July 27, 2017

फुटनोट 103 (भक्तिभाव)

Sanjiv Singhतुम यार निरा जाहिल हो कुछ भी हो तुम्हारे सिर पर जेयनयू का भूत सवार हो जाता है, सैकड़ों बार साबित और प्रचारित हो चुका है कि ये नारे बजरंगी घुसपैठियों ने लगाए थे, वीडियो में उनकी साफ तस्वीरे हैं, हम उन जनद्रोहियों को पहचान करलगिरफ्तारी की मांग करते रहे हैं। वहां की माटी में तर्क-विवेक के इतने बीज हैं कि एक बार लघूम आओं तो तुम्हारे दिमाग से भी गोमाता के पवित्र गोबर की सुगंध का असर कुछ कम हो जाएगा। जेयनयू के क्रांतिकारी छात्र देश-दुनिया को खूबसूरत बनाने के लिए जान देने वाले हैं, बजरंगी लंपटों की तरह देश तोड़नमे वाले नहीं। कायर कुत्तों की तरह भीड़ में शेर बनने वाला हर बंददिमाग बजरंगी देश के बारे में ऐसे बोलता है जैसे उसके बाप का खेत हो। हिंदू देवियों की नग्न तस्वीरें जोयनयू में नहीं मंदिरों (कोणार्क, खजुराहो) में चिपकी हैं। मैंने तुम्हारी रिक्वेस्ट इसलिए ऐकसेप्ट कर लिया था कि शायद बंद तदिमाग खुल जाये, लेकिन तुम तो समय नष्ट करने वाले ट्रोल निकले। चलो विदा लो।

No comments:

Post a Comment