Friday, January 23, 2015

फुटनोट 27

Shashank Shekharनकारात्मकता-सकारात्मकता सापेक्ष अवधारणायें हैं, मै तो नकारात्मकता नकारता रहा हूं. सहानुभूति एक नकारात्मक मानता हूं जो सहानुभूति के पात्र की सर्जक संभावनाओं को प्रकारांतर से क्षीण करती है. मेरी संवेदनशीलता सहानुभूति नहीं समानुभूति की पक्षधर है. मैं अन्यायपूर्ण यथास्थिति के समर्थन को नकारात्मक मानता हूं अौर उसके विनाश अौर उसकी जगह समतामूलक, न्यायपूर्ण व्यवस्था की स्थापना को सकारात्मक. ज़ाहिर है कि व्यवस्था के पिट्ठुओं अौर अास्था की बेदी पर विवेक की बलि चढ़ाने वालों को मेरी सोच नकारात्क लगेगी. मुद्दों पर पूर्वाग्रह से मुक्त मन से विंदुवार विमर्श से सापेक्ष सकारात्मकता की पहचान हो सकती है.

No comments:

Post a Comment