Thursday, September 25, 2014

फुटनोट 18

मैं तो एक नास्तिक हूँ और अपनी स्वर्गवासी माँ के अलावा किसी माँ को नहीं मानता-जानता लेकिन याद नहीं होश सम्हालने के बाद कभी भी किसी महिला का निरादर या किसी के साथ दुर्व्यवहार किया, यह सोच कर कि बर्दाश्त न करने को दुर्व्यवहार न मान लिया जाय दुर्व्यवहार बर्दाश्त जरूर किया हूँ. मर्दवाद जीववैज्ञानिक प्रवृत्ति नहीं बल्कि एक विचारधारा (मिथ्याचेतना) है जिसका शिकार केवल उत्पीड़क ही नहीं पीड़ित भी होता है. ज्यादा तो नहीं लेकिन कुछ ऐसे अनुभव  हैं.

No comments:

Post a Comment